आत्मनिर्भर भारत देश को पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का दृष्टिकोण प्रदान करता है: अधिकारी

0
1 views
आत्मनिर्भर भारत देश को पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का दृष्टिकोण प्रदान करता है: अधिकारी


डिसक्लेमर:यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।

| Updated: 21 Nov 2020, 08:57:00 PM

नयी दिल्ली, 21 नवंबर (भाषा) एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने शनिवार को कहा कि आत्मनिर्भर भारत मुहिम देश को पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का दृष्टिकोण प्रदान करता है। विदेश मंत्रालय के सचिव संजय भट्टाचार्य ने इंडिया ई-बिज एक्सपो 2020 में इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स (आईसीसी) को संबोधित करते हुए कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान ‘मेक इन इंडिया, मेक फोर वर्ल्ड’ के माध्यम से देश की पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की योजना को एक दृष्टिकोण प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि यह योजना वैश्विक अर्थव्यवस्था के साथ एकीकरण से पूरी होगी। उन्होंने कहा कि कोविड-19 ने दुनिया भर

 

नयी दिल्ली, 21 नवंबर (भाषा) एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने शनिवार को कहा कि आत्मनिर्भर भारत मुहिम देश को पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का दृष्टिकोण प्रदान करता है। विदेश मंत्रालय के सचिव संजय भट्टाचार्य ने इंडिया ई-बिज एक्सपो 2020 में इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स (आईसीसी) को संबोधित करते हुए कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान ‘मेक इन इंडिया, मेक फोर वर्ल्ड’ के माध्यम से देश की पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की योजना को एक दृष्टिकोण प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि यह योजना वैश्विक अर्थव्यवस्था के साथ एकीकरण से पूरी होगी। उन्होंने कहा कि कोविड-19 ने दुनिया भर में हर स्तर पर अप्रत्याशित व्यवधान डाला है। उन्होंने कहा, ‘‘यह सिर्फ स्वास्थ्य व चिकित्सा का संकट नहीं बल्कि सामाजिक व आर्थिक चुनौती भी है। इससे वैश्विक अर्थव्यवस्था सुस्त हो गयी, लोगों का मिलना् जुलना सीमित हो गया और हर कोई डर गया। वैश्विक समुदाय के लिये यह जरूरी था कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में एकजुट होकर प्रयास किया जाये।’’ भट्टाचार्य ने कहा कि भारत ने फंसे लोगों को निकालने में सहयोग किया। भारत ने बाहर फंसे अपने लोगों को वापस लाया। एक लाख से अधिक विदेशी लोगों को उनके देश भी पहुंचाया गया। वंदे भारत मिशन के तहत दुनिया भर में फंसे 30 लाख से अधिक लोगों को वापस लाया गया। यह दुनिया भर के साझेदारों के सक्रिय सहयोग से ही संभव हो पाया। सचिव ने कहा कि भारत ने कई देशों को आपातकालीन चिकित्सा आपूर्ति दी, चिकित्सा दल मुहैया कराया और कोविड-19 के दौर में मानवीय मदद पहुंचाने में अग्रणी बनकर उभरा।

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुक पेज लाइक करें



Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply