जयपुर: हिंगोनियां गौशाला बनती जा रही गायों की ‘कब्रगाह’, दोनों मेयर ने लगाई फटकार

0
1 views
जयपुर: हिंगोनियां गौशाला बनती जा रही गायों की 'कब्रगाह', दोनों मेयर ने लगाई फटकार


जयपुर: हिंगोनियां गौशाला फिर से गायों की कब्रगाह बनती जा रही है. चार साल पहले गोपाष्टमी पर हिंगोनियां गौशाला संचालन का जिम्मा अक्षयपात्र फाउंडेशन को देने के बाद भी भले ही साफ-सफाई में सुधार आया हो लेकिन मौत का आंकड़ा कम होने का नाम नहीं ले रहा है.

गोपाष्टमी के मौके पर जयपुर नगर निगम की मेयर सौम्या गुर्जर और मुनेश गुर्जर आगे-आगे गायों की पूजा करती रहीं और पीछे-पीछे गायें दम तोड़ती रहीं. जिस पर दोनों महापौर ने अक्षयपात्र फाउंडेशन की ओर से की जा रही देखभाल पर सवाल उठाए और कहा कि उपायुक्त गौशाला से रिपोर्ट तलब की गई है और जो लापरवाही कर रहे हैं, उन पर एक्शन जरूर होगा.

यह भी पढ़ें- चूरू की श्रीराम गौशाला में 75 से ज्यादा गायों की दर्दनाक मौत, 35 की हालत नाजुक

 

गोपाष्टमी पर आगे-आगे गायों की पूजा, पीछे-पीछे दम तोड़ती गायें
जयपुर शहर से करीब तीस किलोमीटर दूर हिंगोनियां गौशाला में फिर से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं. आगे-आगे गौ-पूजन और पीछे-पीछे गौवंश का दम तोड़ना. भले ही हिंगोनियां गौशाला में गायों की सेवा करने वालों के लिए ये बात आम हो लेकिन जब आज गोपाष्टमी पर हिंगोनिया गौशाला में गायों की पूजा करने पहुंची जयपुर शहर की दोनों मुखियाओं ने गायों की दुर्दशा देखी तो भड़क उठीं. 

बाड़ों और आईसीयू में मृत पड़ी गायों को देख महापौर ने जब सवाल दागे तो अधिकारियों से जवाब देते नहीं बना. नगर निगम ग्रेटर मेयर डॉक्टर सौम्या गुर्जर ने अक्षयपात्र फाउंडेशन के पदाधिकारियों को भी साफ कहा कि गौशाला की दशा सुधारने के लिए इसका काम आपको सौंपा गया था लेकिन यहां गायों की दुर्दशा से लग रहा है कि गायों की ठीक ढंग से देखभाल नहीं हो रही है. महापौर ने गौशाला उपायुक्त से हिंगोनिया की रिपोर्ट तलब की है. 

मेयर ने कहा- मृत गौवंशों का इलाज कर रहे हैं क्या डॉक्टर
गोपाष्टमी पर गायों के पूजन के लिए सबसे पहले ग्रेटर महापौर सौम्या गुर्जर गौशाला पहुंची. महापौर गायों के आईसीयू में पहुंची तो वहां गायें मृत पड़ी थीं. इस पर महापौर ने मौत के बाद भी गायों के लाशें लावारिस पड़े रहने को लेकर सवाल पूछा तो अधिकारियों ने तपाक से कहा कि गायों की मौत अभी-अभी हुई है. महापौर ने अन्य मृत गायों के संबंध में वही सवाल पूछे तो अधिकारियों ने एक ही जवाब दिया. इस पर महापौर भड़क गई और अधिकारियों को कहा कि क्या अभी हाथ लगाते समय ही हुई है क्या ? कई बाड़ों में चारा भी गीला पड़ा था, इस पर महापौर ने पूछा आखिर गायें गीले चारे को कैसे खाएंगी ? गुर्जर ने करीब एक घंटे तक गौशाला का गहनता से निरीक्षण किया और वहां के हालातों को देखकर डीसी गौशाला से रिपोर्ट तलब की है.

मेयर को निरीक्षण में मिले आईसीयू में दस से ज्यादा गौवंश मृत
उधर जयपुर नगर निगम ग्रेटर की मेयर डॉक्टर सौम्या गुर्जर के गौशाला में दौरे के दौरान ही हैरिटेज नगर निगम की महापौर मुनेश कुमारी भी गायों के पूजन के लिए गौशाला पहुंची. उन्होंने भी गाय का पूजन करने के बाद एक घंटे तक गौशाला का निरीक्षण किया और वहां फैली अव्यवस्थाओं को लेकर नाराजगी जताई. उन्होंने कहा कि गायों की देखभाल की जरूरत है. क्रिटिकल अवस्था में गौवंश को यहां लाया जाता है लेकिन यहां तो देखभाल होनी चाहिए. यहां के डॉक्टर्स को गायों की सेवा में ज्यादा फोकस करने की जरूरत है. उन्होंने तो डॉक्टर्स को यहां तक कह दिया की गौवंश को बचाना पहली प्राथमिकता है. गायों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. गौशाला की स्थिति क्रिटिकल है और इसमें सुधार किया जाएगा.

बहरहाल, जयपुर की इस सरकारी गौशाला में कई गायें बीमार हैं. डॉक्टरों-अफसरों की टीम यहां मौजूद है लेकिन गायें इतनी कमजोर और बीमार हो चुकी हैं कि उन्हें स्वस्थ रख पाना मुश्किल है. लापरवाही को समेटना मुश्किल हो रहा है.

 





Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply