दिल्ली में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, नवंबर के आखिर तक 4 हजार बेड्स बढ़ाने की तैयारी

0
2 views
दिल्ली में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, नवंबर के आखिर तक 4 हजार बेड्स बढ़ाने की तैयारी


हाइलाइट्स:

  • अस्पतालों में आईसीयू बेड सहित 4,000 से अधिक बेड जोड़ने की तैयारी
  • प्राइवेट अस्पतालों में जल्द उपलब्ध होंगे 2,644 बेड
  • ‘दिल्ली के अस्पतालों में जोड़े गए 200 से अधिक आईसीयू बेड’

नई दिल्ली
दिल्ली में तेजी से बढ़ते कोरोना मामला के चलते कोरोना मरीज़ों को बेड की किल्लत ना हो इसके लिए दिल्ली में इस महीने के आखिर तक अस्पतालों में आईसीयू बेड सहित 4,000 से अधिक बेड जोड़ने की तैयारी है। वहीं सरकार द्वारा संचालित गुरु तेग बहादुर और दीन दयाल उपाध्याय अस्पतालों में अधिक आईसीयू बेड जोड़ने की तैयारी चल रही है, जबकि कई प्राइवेट अस्पताल भी कोरोना मामलों की स्पाइक से निपटने के लिए बेड जोड़ने की तैयारी में लगे हुए हैं।

दरअसल प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए 60% बेड रिजर्व करने के दिल्ली सरकार के आदेश से संक्रमण के इलाज के लिए 2,644 बेड जुड़ जाएंगे। राज्य सरकार और केंद्र सरकार मिलकर राज्य में संचालित चिकित्सा सुविधाओं में 1,413 आईसीयू बेड भी शामिल करेंगे। वर्तमान में दिल्ली में 17,300 कोविड बेड, आईसीयू वेंटिलेटर वाले 1,396 और 2,623 आईसीयू बेड बिना वेंटिलेटर वाले हैं। रिपोर्ट के अनुसार, वेंटिलेटर के साथ 1,396 आईसीयू बेड में से केवल 122 अब खाली हैं, इसी तरह से वेंटिलेटर के बिना 2,623 में से 418 आईसीयू बेड भी खाली हैं।

मरीजों की बढ़ती संख्या ने बढ़ाई बेड की मांग
कोरोना मामलों में निरंतर वृद्धि के कारण दिल्ली में हर दिन लगभग 7,500 नए मामले दर्ज किए जा रहे हैं, ऐसे में अस्पताल के बेड पर मरीजों का कब्जा बढ़ गया है। पिछले कुछ हफ्तों में वेंटिलेटर के साथ आईसीयू बेड और बिना वेंटिलेटर के आईसीयू बेड की व्यस्तता बढ़ गई है। वहीं सरकारी संस्थानों की तुलना में निजी अस्पतालों में अधिक है। इसके साथ ही बिना आईसीयू कोरोना बेड की डिमांड भी बढ़ रही है।

प्राइवेट अस्पतालों में जल्द उपलब्ध होंगे 2,644 बेड
नए मामलों में वृद्धि ने दिल्ली सरकार को कोरोना बेड की संख्या बढ़ाने के लिए उपाय करने पर मजबूर किया है। इनमें वेंटिलेटर के साथ-साथ आईसीयू बेड शामिल हैं। दिल्ली सरकार ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए 90 प्राइवेट अस्पतालों को अपनी कुल बेड क्षमता का 60% रिजर्व करने का आदेश दिया है। एक अधिकारी ने कहा कि कई प्राइवेट अस्पतालों ने कोरोना बेड का प्रतिशत कुल बेड क्षमता के 60% तक बढ़ा दिया है और अन्य अस्पताल भी ऐसा करने की तैयारी कर रहे हैं। 90 प्राइवेट अस्पतालों में 2,644 बेड जल्द ही कोरोना के इलाज के लिए उपलब्ध होंगे।

‘दिल्ली के अस्पतालों में जोड़े गए 200 से अधिक आईसीयू बेड’
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार ने अस्पतालों में आइसोलेश और पर्याप्त कोरोना बेड के साथ कोरोना की स्थिति को संभालने के लिए हर संभव कदम उठाए हैं। नवंबर के अंत तक राज्य सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में 663 अतिरिक्त आईसीयू बेड होंगे, जबकि केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार को केंद्र द्वारा संचालित चिकित्सा सुविधाओं में 750 और बिस्तरों का आश्वासन दिया है। इसका मतलब है कि दिल्ली में 1,413 अतिरिक्त आईसीयू बेड होंगे। पिछले हफ्ते केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में कोरोना की समीक्षा बैठक में दिल्ली के अस्पतालों में 200 से अधिक आईसीयू बेड जोड़े गए हैं।



Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply