बाड़मेर: पंचायत चुनाव में 1 ही परिवार के 3 सदस्य मैदान में, PM मोदी के नाम पर मांग रहे वोट

0
1 views
बाड़मेर: पंचायत चुनाव में 1 ही परिवार के 3 सदस्य मैदान में, PM मोदी के नाम पर मांग रहे वोट


भूपेश आचार्य/बाड़मेर: बाड़मेर जिले में जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्यों के लिए प्रत्याशियों का चुनाव प्रचार चरम पर है. जिले की पंचायत समितियां 389 सीटों पर चुनाव हो रहे हैं. इसमें कई रोचक किस्से सामने आ रहे हैं. प्रधान की दौड़ के लिए कई दिग्गज परिवारों के एक नहीं बल्कि 3-3 सदस्य चुनाव लड़ रहे हैं. उनका मानना है कि प्रधान की रेस में कोई रोड़ा न बन जाए इसलिए एक ही परिवार के तीन सदस्यों को मैदान में उतार गए हैं.

दरअसल, बाड़मेर के बायतु पंचायत समिति में पूर्व स्वर्गीय विधायक तगाराम चौधरी के बेटे चेनाराम और उनकी पत्नी साथ ही इंजीनियर की पढ़ाई करके पूरी गांव लौटे हर्षा कुमारी भी पंचायती राज चुनाव लड़ रही हैं. चेनाराम लंबे समय से बीजेपी के वरिष्ठ कार्यकर्ता है. लिहाजा इस बात बीजेपी ने बायतु पंचायत समिति का पूरा दारोमदार इसी परिवार पर डाल दिया है. क्योंकि आज तक बीजेपी कभी भी यहां अपना परचम नहीं लहरा पाई है.

चेनाराम ने कहा, ‘पूरे परिवार को एक साथ चुनाव लड़ाने के पीछे मकसद यह है कि पंचायत समिति सदस्य जब एक साथ चुनकर आते हैं, तभी प्रधान बन सकते हैं अन्यथा प्रधान बनना मुश्किल हो जाता है. पिछली बार मेरी पत्नी जीती थी लेकिन एक वोट के कारण वह प्रधान नहीं बन पाई थी, इसलिए इस बार पार्टी ने मुझे, मेरी पत्नी और बेटी तीनों को टिकट दिया है.’

वहीं, इंजीनियरिंग पूरी करके चुनावी मैदान में उतरी हिमांशी कड़वासरा बताती है कि उसने हमेशा से अपने परिवार को जनता की सेवा करते हुए देखा है इसलिए उसकी राजनीति में हमेशा रुचि थी. इसीलिए वह पहली बार पंचायत समिति चुनाव लड़ रही हैं. वह लोगों को पीएम मोदी की योजनाओं के बारे में बता कर वोट मांगती है और किस तरीके से 2 साल के कार्यकाल में कांग्रेस ने कोई भी योजना उनके इलाकों में लागू नहीं की. साथ ही पानी बिजली जैसी समस्याओं के बारे में लोगों को आश्वासन देती हैं.

इधर, चेनाराम की पत्नी बताती है किआज दिन तक कभी भी इस इलाके का विकास नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि इस बार हम मोदी जी के नाम पर लोगों से वोट मांग रहे हैं और बीजेपी की यहां पर लहर है. ऐसा नहीं है कि परिवारवाद बीजेपी में है. इस समय कांग्रेस और हनुमान बेनीवाल की पार्टी में भी जमकर परिवारवाद नजर आ रहा है. लेकिन कोई भी नेता बोलने को तैयार नहीं है.

 





Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply