वर्ल्ड वाइड रेडियो नेविगेशन सिस्टम का अंग बना आईआरएनएसएस

0
1 views
वर्ल्ड वाइड रेडियो नेविगेशन सिस्टम का अंग बना आईआरएनएसएस


डिसक्लेमर:यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।

| Updated: 20 Nov 2020, 11:12:00 PM

नयी दिल्ली, 20 नवंबर (भाषा) भारतीय क्षेत्रीय नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (आईआरएनएसएस) को हिंद महासागर क्षेत्र में संचालन के लिये अंतरराष्ट्रीय समुद्री संगठन (आईएमओ) ने वर्ल्ड वाइड रेडियो नेविगेशन सिस्टम का अंग बनाया है। केंद्र सरकार ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। बंदरगाह, नौवहन एवं जलमार्ग मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस कदम से व्यपारी जहाज भारतीय सीमा के करीब 1500 किलोमीटर के दायरे में समुद्र में अपने जहाज की राह तलाशने में मदद के लिये आईआरएनएसएस का इस्तेमाल कर सकेंगे। अभी ये जहाज ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) और ग्लोबल नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (ग्लोनास) का इस्तेमाल करते हैं। बयान में कहा गया

 

नयी दिल्ली, 20 नवंबर (भाषा) भारतीय क्षेत्रीय नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (आईआरएनएसएस) को हिंद महासागर क्षेत्र में संचालन के लिये अंतरराष्ट्रीय समुद्री संगठन (आईएमओ) ने वर्ल्ड वाइड रेडियो नेविगेशन सिस्टम का अंग बनाया है। केंद्र सरकार ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। बंदरगाह, नौवहन एवं जलमार्ग मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस कदम से व्यपारी जहाज भारतीय सीमा के करीब 1500 किलोमीटर के दायरे में समुद्र में अपने जहाज की राह तलाशने में मदद के लिये आईआरएनएसएस का इस्तेमाल कर सकेंगे। अभी ये जहाज ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) और ग्लोबल नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (ग्लोनास) का इस्तेमाल करते हैं। बयान में कहा गया कि आईएमओ ने चार नवंबर से 11 नवंबर के दौरान हुई बैठक में यह निर्णय लिया।

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुक पेज लाइक करें



Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply