Chhath Puja 2020 Live: बिहार में छठ पर्व की धूम, आज अस्ताचलगामी सूर्य को दिया जाएगा अर्घ्य

0
1 views
Chhath Puja 2020 Live: बिहार में छठ पर्व की धूम, आज अस्ताचलगामी सूर्य को दिया जाएगा अर्घ्य


पटना
लोक आस्था के महापर्व छठ (Chhath Puja) की धूम बिहार समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में देखने को मिल रही है। कोरोना संकट के बावजूद लोग इस महापर्व (Mahaparv Chhath) को पूरे भक्तिभाव के साथ मना रहे हैं। पूरे बिहार में अलग ही रौनक देखने को मिल रही है। हर आम और खास महापर्व को अपने अंदाज में मना रहा है। चार दिनों के इस अनुष्ठान में आज शाम छठव्रती जलाशयों में पहुंचकर अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देंगे। इसको लेकर पटना में गंगा तट पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। प्रदेश में शहरों से लेकर गांवों तक में छठी मइया के गीत गूंज रहे हैं। जानिए, अब तक के सभी बड़े अपडेट्स…

छठ पर्व के मद्देनजर 7 इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेनें
छठ महापर्व का उत्साह पूरे बिहार में देखने को मिल रहा है। ऐसे में लोगों को आवाजाही में कोई परेशानी नहीं हो इसको लेकर रेलवे की ओर से लगातार जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर ट्रेनों का परिचालन प्रभावित है, ऐसे में बिहार में यात्रियों को परेशानी नहीं हो इसके लिए पूर्व मध्य रेलवे ने सात इंटरसिटी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला लिया है। देखिए इन ट्रेनों की लिस्ट…

उपमुख्यमंत्री रेनू देवी भक्ति भाव से खरना का बनाया प्रसाद
बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी बेतिया में छठ पर्व मना रही हैं। उन्होंने भक्ति भाव से गुरुवार को खरना का प्रसाद बनाया। खरना के साथ छठ व्रतियों का छत्तीस घंटे का निर्जला व्रत शुरू हो गया। रेणु देवी 30 साल से लगतार छठ महा पर्व कर रही हैं। उन्होंने कहा कि छठ हमारी परंपरा है उसको लेकर सभी तैयारियां की गई है।

आज अस्ताचलगामी सूर्य को दिया जाएगा अर्घ्य
चार दिवसीय छठ व्रत के तीसरे दिन आज अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। पटना, गया, मुजफ्फरपुर समेत सूबे के सभी प्रमुख जिलों में छठ व्रती जलाशय या फिर सरोवर में पहुंचकर सूर्य देवता को अर्घ्य देंगे। हालांकि, प्रशासन की ओर से सार्वजनिक जगहों पर भीड़ नहीं लगाने की अपील की है।

छठ पर्व को लेकर खास गाइडलाइंस
छठ महापर्व (Chhath Puja 2020) को लेकर बिहार सरकार (Bihar Government) ने खास गाइडलाइन्स जारी की है। इसमें लोगों को सलाह दी गई है कि वह नदियों-तालाबों पर छठ पूजा करने के बजाय घरों पर ही अर्घ्य दें। इस बार छठ के अवसर पर न मेला लगेगा, ना ही जागरण और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में छोटे तालाबों पर छठ महापर्व के आयोजन के दौरान मास्क का प्रयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाना चाहिए।

बुधवार से शुरू हुआ छठ पर्व
बुधवार को ‘नहाय-खाय’ के साथ ही चार दिनों तक चलने वाला लोक आस्था का महापर्व छठ शुरू हो गया था। छठ को लेकर पटना के गंगा तट पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं।



Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply