DNA ANALYSIS: असली युद्ध नहीं, अब इस तरह लड़ेगा चीन!

0
0 views
DNA ANALYSIS: असली युद्ध नहीं, अब इस तरह लड़ेगा चीन!


नई दिल्ली: आज हम चीन (China) की उस  फेक न्यूज़ (Fake News) की बात करेंगे जिसकी मदद से वह खुद को दुनिया का एक शक्तिशाली देश दिखाना चाहता है. पिछले कुछ दिनों से लद्दाख के बारे में एक फेक न्यूज़ फैलाई जा रही है. इसमें दावा किया गया है कि चीन ने लद्दाख (Ladakh) में भारतीय सेना (Indian Army) के खिलाफ माइक्रोवव हथियारों  (Microwave Weapons) का इस्तेमाल किया है. ये खबर कई अंतरराष्ट्रीय अखबारों ने रिपोर्ट की. शायद आपने भी सोशल मीडिया पर ये न्यूज देखी और पढ़ी होगी और आप में से कई लोगों ने इस खबर पर भरोसा भी कर लिया होगा जबकि सच्चाई ये है कि ये एक Fake News है.

– अब आपको पूरी खबर बताते हैं. चीन के एक प्रोफेसर ने दावा किया है कि इसी वर्ष 29 अगस्त को लद्दाख में Pangong Lake के दक्षिणी किनारे पर चीन की सेना ने माइक्रोवेव हथियारों का इस्तेमाल किया और इसके बाद कई अंतरराष्ट्रीय अखबारों ने इस खबर को प्रकाशित किया.

-इस Fake News के मुताबिक, चीन की सेना ने Pangong Lake के पास पहाड़ की चोटियों को माइक्रोवेव ओवन में बदल दिया. ऐसा करके वहां पर मौजूद भारतीय सैनिकों को पीछे हटने के लिए मजबूर कर दिया गया और अब वहां की चोटियों पर चीन का कब्जा है. लेकिन ये खबर पूरी तरह से गलत है.

– सच ये है कि 29 अगस्त 2020 की रात को भारतीय सेना ने Pangong Lake के दक्षिणी हिस्से में कई ऊंची चोटियों पर कब्जा कर लिया था और अब भारतीय सैनिक इस जगह पर चीन के मुकाबले बेहतर स्थिति में है.

– चीन के सैनिक वास्तविक नियंत्रण रेखा पर असली युद्ध जीत नहीं पाए. चीन की सरकार ने अब तक ये नहीं बताया है कि गलवान घाटी के संघर्ष में उसके कितने सैनिक मारे गए थे. अब चीन की सरकार, सूचना युद्ध का सहारा लेकर फेक न्यूज़ फैला रही है.

चीन की सेना के हमले की खबर Fake News
भारत की सरकार और भारतीय सेना ने भी Microwave हथियारों से चीन की सेना के हमले की खबर को Fake News बताया है. लद्दाख में Microwave हथियारों का इस्तेमाल करने की खबर चीन का वो प्रॉपेगेंडा है जिसकी मदद से वो भारत पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है. हालांकि उसकी ये कोशिश कुछ हद तक सफल हो गई है क्योंकि, अंतरराष्ट्रीय मीडिया की नकल करने वाले कुछ भारतीय संस्थानों ने इस खबर को अपनी हेडलाइन बना लिया और ऐसा करके वो चीन के इस प्रॉपेगेंडा का हिस्सा बन गए.

Microwave हथियारों की खासियत
अब आपको Microwave हथियारों की खासियत बताते हैं-

– ये Microwave हथियार उसी प्रकार से हमला करते हैं जैसे आपके घर में मौजूद माइक्रोवेव ओवन काम करता है.

– जब आप माइक्रोवेव ओवन में खाना पकाते हैं तो उसमें एक प्रकार का इलेक्ट्रो मैग्नेटिक रेडिएशन उत्पन्न होता है.

– ये उस Microwave Oven में मौजूद खाद्य पदार्थों का तापमान बढ़ा देता है और फिर कुछ ही मिनटों में आपका खाना तैयार हो जाता है.

– ठीक इसी तरह जब माइक्रोवेव हथियार से किसी व्यक्ति पर हमला किया जाता है, तो ये शरीर की Skin यानी चमड़ी के नीचे मौजूद पानी का तापमान बढ़ा देता है. जिससे असहनीय दर्द होता है. Microwave Oven में आपका खाना भी इसी प्रकार से तैयार होता है, जिसमें किसी खाद्य पदार्थ की सतह बहुत ज्यादा गर्म नहीं होती लेकिन अंदर में ज्यादा गर्मी होती है.

– और जिस व्यक्ति पर इस माइक्रोवेव हथियार का इस्तेमाल किया जाता है उसके लिए उस दर्द को बर्दाश्त करना असहनीय हो जाता है.

– अमेरिका ने ऐसे ही एक हथियार को अफगानिस्तान में तैनात किया था.

– वर्ष 2014 में चीन ने अपने माइक्रोवेव हथियार को दुनिया के सामने रखा था.

हालांकि लद्दाख में ऐसे किसी माइक्रोवेव हथियार से भारत के सैनिकों पर हमला नहीं किया गया है. असली मोर्चे पर लड़ने के बदले चीन की सेना आभासी दुनिया में फेक न्यूज़ वाला युद्ध कर रही है. ताकि दुनिया में उसे भी एक सुपर पावर माना जाए.

LIVE TV





Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply