Nagrota Encounter: सांबा सेक्टर से घुसपैठ कर ट्रक में सवार हुए थे आतंकी, ये था ‘टेरर प्लान’

0
1 views
Nagrota Encounter: सांबा सेक्टर से घुसपैठ कर ट्रक में सवार हुए थे आतंकी, ये था 'टेरर प्लान'


हाइलाइट्स:

  • जम्मू के पास नगरोटा में मारे गए 4 आतंकी, सांबा सेक्टर से की घुसपैठ
  • कश्मीर में जिला विकास परिषद चुनावों में गड़बड़ी फैलाने की साजिश
  • मारे गए आतंकी हाइवे पर हमले की बजाए कश्मीर पहुंचना चाहते थे
  • 11 एके-47 बरामद, कश्मीर में इन हथियारों का इस्तेमाल करने का प्लान

गोविंद चौहान, जम्मू
नगरोटा बन टोल प्लाजा पर मारे गए आतंकी सांबा सेक्टर से घुसपैठ करके दूसरी तरफ दाखिल हुए थे। एजेंसियों के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आतंकी सांबा सेक्टर के बबर नाला से घुसपैठ करके आए। यह इलाका वैसे तो हीरानगर में पड़ता है लेकिन इसे सांबा सेक्टर का इलाका कहा जाता है। यहां पर बड़ा नाला है जोकि अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) के बीच में है। यहां पर काफी बड़े-बड़े सरकंडे हैं, जिन्हें पाक रेंजर साफ नहीं करने देते हैं। बताया जा रहा है कि आतंकी डीडीसी (जिला विकास परिषद) चुनाव में गड़बड़ी फैलाने के मकसद से घुसे थे।

अगर इस तरफ से भारतीय जवान सफाई करते हैं तो फायरिंग शुरू कर दी जाती है। इसी नाले का इस्तेमाल करके आतंकी दाखिल हुए। उसके बाद आगे ट्रक उनका इंतजार कर रहा था, जिसमें सवार होकर वह कश्मीर की तरफ जा रहे थे। पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने भी इस बात की पुष्टि की है कि आतंकी सांबा सेक्टर से घुसपैठ करके इस तरफ दाखिल हुए थे। इस मुठभेड़ को लेकर कई बातें सामने आ रही हैं।

बताया जा रहा है कि एसओजी की टीम की तरफ से इस ट्रक के नाके पर आने के बाद एकदम से फायरिंग शुरू कर दी गई। एसओजी को पहले से ही पता था कि इस ट्रक में आतंकी हैं। इस ट्रक के चालक के बारे में कोई जानकारी बाहर नहीं आ रही है। सूत्रों का कहना है कि चालक एसओजी के पास है। वह एजेंसियों का सूत्र बताया जा रहा है।

आतंकियों के पास से 11 एके-47 बरामद

इस मुठभेड़ के बाद बीएसएफ के आला अधिकारियों की तरफ से इंटरनैशनल बॉर्डर का दौरा किया जा रहा है। हीरानगर सेक्टर में पिछले कई दिनों से पाक की तरफ से आईबी की चौकियों और रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर फायरिंग की जा रही है। इसी बात का फायदा उठाकर आतंकी घुसपैठ करने में कामयाब हुए। एक तरफ बीएसएफ को फायरिंग में व्यस्त रखा गया और दूसरी तरफ आतंकियों की घुसपैठ करवा दी गई।

ट्रक चालक आतंकियों के संपर्क में था
फिलहाल अभी सुरक्षा एजेंसियां जांच चल रही हैं। लेकिन सूत्रों का कहना है कि ट्रक चालक आतंकियों के संपर्क में था। आतंकियों के मददगारों के माध्यम से वह आतंकियों को लेकर आ रहा था। उसे सांबा जिले में एक जगह बताई गई थी। यहां से उसने आतंकियों को हथियारों के साथ अपने ट्रक में बिठाया। उसे कश्मीर में इन आतंकियों को पहुंचाना था। उसके बदले में उसे पैसे दिए जाने थे।

क्या था आतंकियों का प्लान
नगरोटा में मारे गए आतंकियों का प्लान कश्मीर में पहुंचने का था। सूत्रों का कहना है कि उन्हें हाइवे पर हमला नहीं करना था। वे कश्मीर पहुंचकर हमला करने की फिराक में थे। उनके पास से 11 एके-47 राइफल बरामद हुई हैं। जितना सामान उनके पास बरामद हुआ है, उससे साफ है कि कश्मीर में आतंकियों को हथियार दिए जाने थे, जिनका इस्तेमाल आने वाले दिनों में डीडीसी चुनावों में हमले के लिए किया जा सके।

कश्मीर में नाकाम घुसपैठ
कश्मीर में आतंकी घुसपैठ करने में सफल नहीं हो रहे हैं। इसी माह कश्मीर में दो बार घुसपैठ के प्रयास विफल किए गए हैं। ऐसे में आतंकियों की तरफ से जम्मू बॉर्डर का इस्तेमाल किया जा रहा है, ताकि घुसपैठ करके आतंकी इस तरफ भेजे जा सकें। कश्मीर में आतंकियों की कमी के अलावा आतंकियों के पास हथियारों की कमी भी आ गई है। ऐसे में पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई की तरफ से कश्मीर में आतंकवाद को जिंदा रखने की हर मुमकिन कोशिश की जा रही है।



Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply