RIL का मार्केट कैप 3 लाख करोड़ घटा: HDFC और टाटा ग्रुप ने मार्केट कैप के मामले में रिलायंस को पीछे छोड़ा

0
2 views
RIL का मार्केट कैप 3 लाख करोड़ घटा: HDFC और टाटा ग्रुप ने मार्केट कैप के मामले में रिलायंस को पीछे छोड़ा


  • Hindi News
  • Business
  • Ambani RIL Reliance Group Market CAP Vs HDFC; Stock Price Today Latest News Update

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई12 घंटे पहलेलेखक: अजीत सिंह

  • कॉपी लिंक

देश की सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार रिलायंस इंडस्ट्रीज को बड़ा झटका लगा है। कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन (M-Cap) के मामले में यह ग्रुप HDFC और टाटा ग्रुप से पीछे हो गया है। पिछले 45 दिनों में रिलायंस इंडस्ट्रीज ग्रुप की कंपनियों के मार्केट कैप में 3 लाख करोड़ रुपये की कमी आई है। साथ ही इसके शेयर प्राइज में भी काफी गिरावट आई है।

शुक्रवार को ही कंपनी का शेयर करीब 4% टूटकर 1,900 रुपए के नीचे चला गया है।

रिलायंस का मार्केट कैप 12.05 लाख करोड़ रुपये हुआ

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के आंकड़ों के मुताबिक, रिलायंस ग्रुप का कुल मार्केट कैप शुक्रवार (आज) को 12.05 लाख करोड़ रुपये रहा है। दिन की शुरुआत में यह 12.14 लाख करोड़ था। HDFC ग्रुप का कुल मार्केट कैप 13.72 लाख करोड़ रुपये रहा है। टाटा ग्रुप इस मामले में पहले नंबर पर है। इसका कुल मार्केट कैप 14.27 लाख करोड़ रुपये है।

एक अक्टूबर से बात करें तो तब HDFC ग्रुप का कुल मार्केट कैप 10.94 लाख करोड़ रुपये था। रिलायंस ग्रुप का मार्केट कैप 15.68 लाख करोड़ रुपये और टाटा ग्रुप की कंपनियों का मार्केट कैप 13.20 लाख करोड़ रुपये था।

टाटा का मार्केट कैप 1.07 लाख करोड़ बढ़ा

आंकड़ों के आधार पर टाटा ग्रुप की कंपनियों के मार्केट कैपिटलाइजेशन में जहां इस दौरान 1.07 लाख करोड़ रुपये की बढ़त हुई, वहीं रिलायंस की कंपनियों का मार्केट कैप करीब 3 लाख करोड़ रुपये घट गया। HDFC ग्रुप का मार्केट कैप इसी दौरान 2.78 लाख करोड़ रुपये बढ़ गया।

TCS का मार्केट कैप 9.97 लाख करोड़

टाटा ग्रुप में टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस (TCS) का मार्केट कैप 9.97 लाख करोड़ रुपये है। इसका मार्केट कैप 50 हजार करोड़ बढ़ा है। HDFC बैंक की बात करें तो इसका मार्केट कैप अभी 7.73 लाख करोड़ रुपये है। एक अक्टूबर से इसका एम कैप 1.61 लाख करोड़ रुपये बढ़ा है। वैसे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में कुल लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन गुरुवार को पहली बार 172 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंचा था।

HDFC की चार कंपनियां लिस्टेड हैं

HDFC की प्रमुख कंपनियों मे HDFC बैंक, HDFC लिमिटेड, HDFC म्यूचुअल फंड और HDFC लाइफ लिस्टेड हैं। रिलायंस ग्रुप में RIL, रिलायंस का PP शेयर, हैथवे केबल, डेन नेटवर्क, नेटवर्क 18 शामिल हैं। टाटा ग्रुप में TCS, टाटा मोटर्स, टाटा केमिकल, टाइटन, ट्रेंट, टाटा कंज्यूमर, टाटा कम्युनिकेशन हैं। लॉकडाउन के पहले की बात करें तो 9 मार्च को RIL का मार्केट कैप 7.05 लाख करोड़ रुपये था। TCS 7.40 लाख करोड़ रुपये के साथ पहले नंबर पर थी।

जुलाई में 14.32 लाख करोड़ था RIL का मार्केट कैप

अगर हम जुलाई के अंतिम हफ्ते की बात करें तो 25 जुलाई को RIL ग्रुप का कुल मार्केट कैप 14.32 लाख करोड़ रुपए था। जबकि HDFC ग्रुप का मार्केट कैप 11.11 लाख करोड़ और टाटा ग्रुप का 11.27 लाख करोड़ रुपए मार्केट कैप था। BSE के कुल मार्केट कैप का 25% हिस्सा इन्हीं तीनों के पास है। यानी RIL से HDFC और टाटा ग्रुप करीबन 3-3 लाख करोड़ रुपए पीछे थे।

सितंबर में 16.50 लाख करोड़ एम कैप

14 सितंबर की बात करें तो रिलायंस ग्रुप की कंपनियों का कुल मार्केट कैप 16.50 लाख करोड़ से ज्यादा हो गया था। उस समय BSE में RIL का ही मार्केट कैप 15.91 लाख करोड़ रुपये पर था। राइट्स इश्यू का मार्केट कैप 60 हजार करोड़ रुपये था। उस एक हफ्ते में रिलायंस का मार्केट कैप 2.5 लाख करोड़ रुपये बढ़ा था। इसके बाद दुनिया में मोस्ट वैल्यूएबल कंपनियों में रिलायंस 44 वें नंबर पर पहुंच गई थी।

रिटेल में हिस्सेदारी बेचकर रिलायंस ने 47 हजार करोड़ जुटाए

रिलायंस रिटेल ने इसी अवधि में रिटेल में 10 पर्सेंट से ज्यादा हिस्सेदारी बेचकर 47 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम जुटाई है। उसने 25 सितंबर को पहली डील की थी और 9 नवंबर को अंतिम डील की थी। इसी दौरान रिलायंस का शेयर भी एनएसई पर 2,369 रुपए से गिरकर 1,910 रुपए पर आ गया है। कंपनी ने जियो में हिस्सेदारी बेचकर 1.52 लाख करोड़ रुपये जुटाए थे, उसी समय इसका शेयर और मार्केट कैप दोनों टॉप पर पहुंच गए थे।



Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply